अतीत से नव – स्फूर्ति लेकर। गीत RSS | कार्यक्रम में गाया जाने वाला गीत।

अतीत से नव – स्फूर्ति लेकर। गीत RSS | कार्यक्रम में गाया जाने

वाला गीत।

 

अतीत से नव – स्फूर्ति लेकर

वर्तमान में दृढ उधम कर

भविष्य में दृढ निष्ठा रखकर कर्मशील हम रहे निरंतर। ।

बलिदानों की परंपरा से

स्वराज्य है यह पावन जिनसे

वंदन उनको कृतज्ञता से धेय्य भाव करें जागरण। ।

स्वार्थ द्वेष को आज त्यागकर

अहं भाव का पाश काटकर

अपना सब व्यक्तित्तव भुलाकर विराट का हम करते दर्शन। ।

अरुण केतु को साक्षी रखकर

निश्चय वाणी आज गरजकर

शुभ-कृति का यह मंगल अवसर निष्ठा मन में रहे चिरंतन । ।

kindlly see this

यह भी पढ़ें – संघ सरचालकों की शैक्षणिक योग्यता

आपसे अनुरोध है कि अपने विचार कमेंट बॉक्स में सम्प्रेषित करें। 

फेसबुक और व्हाट्सएप के माध्यम से अपने सुभेक्षु तक भेजें। 

अपना फेसबुक लाइक तथा यूट्यूब पर सब्स्क्राइब करना न भूलें। 

facebook  page

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *