rss geet , मन को मरे मत बैठो
RSS GEET ( संघ गीत )

जीवन में कुछ करना है तो मन को मारे मत बैठो गणगीत। rss gangeet in hindi

जीवन में कुछ करना है तो मन को मारे मत बैठो गणगीत।

rss gangeet – मन को मारे मत बैठो

 

जीवन में कुछ करना है तो , मन को मारे मत बैठो।

आगे – आगे चलना है तो , हिम्मत हारे मत बैठो। २

 

चलने वाला मंजिल पाता , बैठा पीछे रह जाता है।

ठहरा पानी सड़ने लगता , बहता निरमा रहता है।

पांव मिले चलने की खातिर , पांव पसारे मत बैठो।

आगे – आगे चलना है तो , हिम्मत हारे मत बैठो। ।

 

 

तेज दौड़नेवाला खरहा , दो पल चलकर बैठ गया

धीरे – धीरे चलकर कछुआ , देखो बाज़ी मार गया।

चलो कदम से कदम मिलकर , दूर किनारे मत बैठो।

आगे – आगे चलना है तो , हिम्मत हारे मत बैठो। ।

 

 

धरती चलती टारे चलते , चाँद रात भर चलता है।

किरणों का उपहार बांटने , सूरज रोज निकलता है

हवा चले महक बिखरे , तुम भी प्यारे बन महको।

आगे – आगे चलना है तो , हिम्मत हारे मत बैठो। ।

 

 

जीवन में कुछ करना है तो , मन को मारे मत बैठो।

आगे – आगे चलना है तो , हिम्मत हारे मत बैठो।

rss geet , मन को मरे मत बैठो

 

ALSO READ THIS –

संघ की शाखा क्यों आवश्यक है 

संघ का अमृत वचन 

हिन्दू साम्राज्य दिवस 

आपसे अनुरोध है कि अपने विचार कमेंट बॉक्स में सम्प्रेषित करें। 

फेसबुक और व्हाट्सएप के माध्यम से अपने सुभेक्षु तक भेजें। 

अपना फेसबुक लाइक तथा यूट्यूब पर सब्स्क्राइब करना न भूलें। 

facebook  page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *