दया कर दान भक्ति का हमे परमात्मा देना। dya kar daan bhakti ka | प्रार्थना हिंदी

दया कर दान भक्ति का हमे परमात्मा देना

सुविचार जीवन प्रेरक 

 

दया कर दान भक्ति का हमे परमात्मा देना ,

दया करना हमारी आत्मा में  शुद्धता देना। ।

हमारे दिल में आओ , प्रभु आँखों में बस जाओ ,

अँधेरे दिल में आकर के परम ज्योति जला देना।

दया कर दान भक्ति का हमे परमात्मा देना। ।

सरस्वती वंदन माँ शारदे हंस वाहिनी 

बहा दो प्रेम की गंगा , दिलों में प्रेम का सागर ,

हमे आपस मिलजुल के ,प्रभु रहना सीखा देना।

दया कर दान भक्ति का हमे परमात्मा देना। ।

हमारा कर्म हो सेवा , हमारा धर्म हो सेवा ,

सदा ईमान हो सेवा , वो सेवक बना देना।

दया कर दान भक्ति का हमे परमात्मा देना। ।

वतन के वास्ते जीना , वतन के वास्ते मरना ,

वतन पे जां फ़िदा , करना प्रभु हमको सीखा देना।

दया कर दान भक्ति का हमे परमात्मा देना। ।

दया कर दान भक्ति का हमे परमात्मा देना ,

दया करना हमारी आत्मा में  शुद्धता देना। ।

हमको अपनी भारत की माटी से अनुपम प्यार है

संगठन हम करें आफतों से लडे हमने ठाना।sangh geet

निज गौरव को निज वैभव को क्यों हिन्दू बहदुर भूल गए | NIJ GAURAV KO BAIBHW KO

संगठन गढ़े चलो सुपंथ पर बढे चलो। आरएसएस गीत।

इस भगवा ध्वज को ‘ श्री रामचंद्र ‘ ने राम – राज्य में ‘ हिंदूकुश ‘ पर्वत पर फहराया था , जो हिंदू साम्राज्य के वर्चस्व का परिचायक है।  इसी भगवा ध्वज को ‘ वीर शिवाजी ‘ ने मुगल व आताताईयों को भगाने के लिए थामा था। वीरांगना लक्ष्मीबाई ने भी साँस छोड़ दिया , किंतु भगवा ध्वज को नहीं छोड़ा।

इस भगवा प्लेटफार्म से हम हिंदू अथवा हिंदुस्तान के लोगों से एक सभ्य व शिक्षित समाज की कल्पना करते हैं। जिस प्रकार से राम – राज्य में शांति और सौहार्द का वातावरण था , वैसे ही राज्य की कल्पना हम इस समाज से करते हैं।

आपसे अनुरोध है कि अपने विचार कमेंट बॉक्स में सम्प्रेषित करें। 

फेसबुक और व्हाट्सएप के माध्यम से अपने सुभेक्षु तक भेजें। 

अपना फेसबुक लाइक तथा यूट्यूब पर सब्स्क्राइब करना न भूलें। 

facebook  page

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!