मंत्र छोटा रीत नई आसान हमने पाई है। वर्ग गीत। संघ वर्ग गीत आरएसएस

मंत्र छोटा रीत नई आसान हमने पाई है। वर्ग गीत। संघ वर्ग गीत आरएसएस

मंत्र छोटा रीत नई आसान हमने पाई है

वर्ग गीत आरएसएस 

मंत्र छोटा रीत नई आसान हमने पाई है
छोटे छोटे संस्कारों से बात बडी बन जाती है ॥२

बाते करने से क्या होता नियमित होना पडता है
नियमित शाखा जाते जाते अनुशासन फिर आता है
अनुशासन ही संस्कारों का पंथ खुला कर देता है ॥

छोटे छोटे संस्कारों से बात बडी बन जाती है

 

शाखा मे हम ऐसे खेले जिससे प्रेम उमडता हो
कुछ बौद्धिक हो गीत गान हो धर्म ग्यान की चर्चा हो
भगवा ध्वज हो नित्य सामने त्याग भावना पलती है ॥

छोटे छोटे संस्कारों से बात बडी बन जाती है

 

 

सुख दुख मे हम साथ रहें परिवार रहे हर संपर्कित
यह समाज मेरा अपना है प्रेम भावना हो अंकित
गुरु-पूजा हो श्रद्धा से विस्तार तपस्या होती है ॥

छोटे छोटे संस्कारों से बात बडी बन जाती है

 

वीर सुतों के दिव्य तेज से भू पर तारांगण आए
जगत निरामय करने हेतु सेवा-व्रत हम अपनाए
इसी मंत्र से इसी तंत्र से विश्व धर्म जय होती है ॥

छोटे छोटे संस्कारों से बात बडी बन जाती है।

मंत्र छोटा रीत नई आसान हमने पाई है
छोटे छोटे संस्कारों से बात बडी बन जाती है ॥

 

हमारा फेसबुक पेज like करें

facebook  page

android app 

 

संघ के बेस्ट गीत पढ़ें 

चन्दन है इस देश की माटी तपोभूमि हर ग्राम है।

स्वयं अब जागकर हमको जगाना देश है अपना

मातृभूमि गान से गूंजता रहे गगन। गणगीत rss

संघ चेतना बढ़ना अपना काम है।rss geet | 

भारत माता तेरा आँचल। संघ गीत

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!