स्वयं अब जागकर हमको जगाना देश है अपना
RSS GEET ( संघ गीत )

स्वयं अब जागकर हमको जगाना देश है अपना।वर्ग गीत आरएसएस। rss varg geet |

स्वयं अब जागकर हमको जगाना देश है अपना

वर्ग गीत आरएसएस

 

 

स्वयं अब जागकर हमको जगाना देश है अपना। ।

हमारे देश की मिट्टी , हमें प्राणों से प्यारी है

यहीं के अन्न , जल ,वायु , परम श्रद्धा हमारी है

स्वभाषा  है हमें प्यारी , औ प्यारा देश है अपना। ।१

जगाना देश है अपना …………………………..  । ।

नहीं है अब समय कोई , गहन निंद्रा में सोने का

समय है एक होने का , न मतभेदों में खोने का

बढ़े बल राष्ट्र का जिससे , वो करना मेल है अपना। ।२

जगाना देश है अपना …………………………..  । ।

सूर्य नमस्कार मन्त्र उच्चारण अर्थ और लाभ सहित 

जतन हो संगठित हिन्दू , औ सक्रिय भाव भरने का

जगाने राष्ट्र की भक्ति , उत्तम कार्य करने का

सम्मुत राष्ट्र हो भारत , यही उद्देश्य है अपना। । ३

जगाना देश है अपना …………………………..  । ।

 

गायत्री मंत्र का उच्चारण स्वास्थ्य लाभ के लिए क्यों आवश्यक है पढ़ें 

 

विद्या ददाति विनयम

कलयुग में शक्ति का एक मात्र साधन संघ है। अर्थात जो लोग एकजुट होकर संघ रूप में रहते हैं , संगठित रहते हैं उनमें ही शक्ति है।

साथियों संघ के गीत का यह माला तैयार किया गया है , जो संघ के कार्यक्रम में एकल गीत गण गीत के रूप में गाया जाता है। समय पर आपको इस माला के जरिए गीत शीघ्र अतिशीघ्र मिल जाए ऐसा हमारा प्रयास है। आप की सुविधा को ध्यान में रखकर हमने इसका मोबाइल ऐप भी तैयार किया है जिस पर आप आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं।

आपसे अनुरोध है कि अपने विचार कमेंट बॉक्स में सम्प्रेषित करें। 

फेसबुक और व्हाट्सएप के माध्यम से अपने सुभेक्षु तक भेजें। 

अपना फेसबुक लाइक तथा यूट्यूब पर सब्स्क्राइब करना न भूलें। 

facebook  page

4 thoughts on “स्वयं अब जागकर हमको जगाना देश है अपना।वर्ग गीत आरएसएस। rss varg geet |”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *