अमृत वचन

चाणक्य के अनमोल वचन। अमृत वचन। चाणक्य के सुविचार

चाणक्य के अनमोल वचन   आँख के अंधे को दुनिया नहीं दिखती , काम के अंधे को विवेक नहीं दिखता , मद के अंधे को अपने से श्रेष्ठ नहीं दिखता , और स्वार्थी को कभी – भी दोष नहीं दिखता। ।  – चाणक्य       जिसने अन्यायपूर्वक धन इक्कठा किया है , और अकड़ कर सदा […]

स्वामी विवेकानन्द अमृत वचन
अमृत वचन

स्वामी विवेकानन्द अमृत वचन अति महत्वपूर्ण एवं उपयोगी। swami vivekanand quotes

स्वामी विवेकानन्द अमृत वचन   स्वामी विवेकानन्द अमृत वचन जैसा तुम सोचते हो , वैसे ही बन जाओगे। खुद को निर्बल मानोगे तो निर्बल और सबल मानोगे तो सबल ही बन जाओगे। ।   स्वामी विवेकानन्द अमृत वचन जब कोई मनुष्य अपने पूर्वजों के बारे में लज्जित होने लगे , तब समझ लेना उसका अंत हो गया। मै […]

डॉक्टर हेडगेवार
अमृत वचन

अमृत वचन डॉक्टर हेडगेवार। amrit vachan dr hedgwaar in hindi

अमृत वचन डॉक्टर हेडगेवार   शक्ति केवल सेना या शस्त्रों में नहीं होती, बल्कि सेना का निर्माण जिस समाज से होता है , वह समाज जितना राष्ट्रप्रेमी , नीतिमान और चरित्रवान संपन्न होगा , उतनी मात्रा में वह शक्तिमान होगा। । (डॉक्टर हेडगेवार )   हमारा धर्म तथा संस्कृति कितनी ही श्रेष्ठ क्यों न हो […]

amrit vachan
अमृत वचन

amrit vachan | अमृत वचन। संघ अमृत वचन जो कायक्रम में उपयोगी है

amrit vachan |अमृत वचन     परम पूज्य श्री गुरूजी ने कहा ( amrit vachan ) ” जिस प्रकार अयोग्य सेनापति द्वारा सेना का कुशल सञ्चालन नहीं हो सकता उसी पकारा कार्यकर्ता अकुशल हो तो शाखाएं ठीक नहीं चल सकती। अतः प्रत्येक कार्यकर्ता को संघ का शिक्षण करना अनिवार्य है। ये वर्ग हमे कठिनाईयों में भी […]

अमृत वचन

अमृत वचन। बालासाहब देवरस अमृत वचन। संघ में प्रयोग होने वाला अमृत वचन

 अमृत वचन बालासाहब देवरस बालासाहब देवरस अमृत वचन ” संघ की शाखा केवल खेल खेलने और कवायद करने का स्थान मात्र नहीं है। यह सज्जनों की सुरक्षा का बिन बोले अभिवचन है , तरुणों को अनिष्ट व्यसनों से मुक्त रखने वाला संस्कारपीठ है , महिलाओं के प्रति सम्मान पूर्ण आचरण का आश्वासन है , समाज […]

अमृत वचन

स्वामी विवेकानंद।अमृत वचन। amrit vachan | सुविचार।RSS अमृत वचन

स्वामी विवेकानंद अमृत वचन। amrit vachan   स्वामी विवेकानंद अमृत वचन   वेदांत कोई पाप नहीं जानता , वो केवल त्रुटि जानता है। और वेदांत कहता है कि सबसे बड़ी त्रुटि यह है कि तुम , कमजोर हो , तुम पापी हो , एक तुछ प्राणी हो , और तुम्हारे पास कोई शक्ति नहीं है ,और […]

अमृत वचन

अमृत वचन। RSS AMRIT VACHAN | संघ के कार्यक्रम हेतु अमृत वचन।

अमृत वचन श्री बालशास्त्री हरदास जी ने कहा ( अमृत वचन ) – ”  क्रांतिकारी आंदोलन चलाते समय , डॉक्टर जी को यह अनुभव आया कि संस्कारित पीढ़ी के निर्माण के बिना कोई भी पुनरुत्थान का प्रयत्न सफल नहीं हो सकेगा। आज हमें राष्ट्र के लिए मरना नहीं दीप  के सामान तिल – तिल जलते हुए […]