अम्बा अंबिका अंबालिका महाभारत कथा | Amba sampoorna mahabharat

अम्बा अंबिका अंबालिका

अम्बा अंबिका अंबालिका   पूर्व में हमने पढ़ा किस प्रकार शांतनु सुगंध की खोज करते-करते सत्यवती तक पहुंचते हैं। सत्यवती की प्राप्ति के लिए देवव्रत को भीष्म प्रतिज्ञा लेनी पड़ती है।शांतनु और  सत्यवती का विवाह होता है उनके पुत्र विचित्रवीर्य व  चित्रांगद का जन्म होता है। अब आगे…………………………………………………………   हस्तिनापुर का उत्तराधिकारी – चित्रांगद  ,  शांतनु … Read moreअम्बा अंबिका अंबालिका महाभारत कथा | Amba sampoorna mahabharat

महाभारत कथा शांतनु सत्यवती का मिलन | shantnu and satyawati story from sampoorna mahabharat

शांतनु - सत्यवती का मिलन प्रसंग  और ' भीष्म ' प्रतिज्ञा

शांतनु – सत्यवती का मिलन प्रसंग  और ‘ भीष्म ‘ प्रतिज्ञा   गंगा द्वारा शांतनु ( हस्तिनापुर के राजा ) को पुत्र रूप में देवव्रत की प्राप्ति के बाद शांतनु अपने राग – रंग में डूब कर धीरे-धीरे पुरानी सारी स्मृतियों को भूलते गए। चार  वर्ष व्यतीत हुए होंगे की एक  दिन शांतनु यमुना के किनारे आखेट ( शिकार … Read moreमहाभारत कथा शांतनु सत्यवती का मिलन | shantnu and satyawati story from sampoorna mahabharat

महाभारत के पात्र शांतनु और गंगा की पूरी कहानी sampoorna mahabharat

शांतनु और गंगा की अद्भुत कहानी

महाभारत के पात्र शांतनु और गंगा की अद्भुत कहानी   शांतनु पूर्व जन्म में ” महाभिषक “ थे और गंगा ब्रह्मा पुत्री।  देव सिद्ध होकर माभिषक देवलोक में गए थे। इस ( द्वापर ) युग में वह शांतनु के रूप में हस्तिनापुर के राजा थे , जो कौरव और पांडव के परदादा कहलाए। महाभिषक  , इंद्र के … Read moreमहाभारत के पात्र शांतनु और गंगा की पूरी कहानी sampoorna mahabharat

error: Content is protected !!