मन समर्पित तन समर्पित। एकल गीत गुरुदक्षिणा हेतु। rss ekal geet | gurudkshina

मन समर्पित तन समर्पित

एकल गीत गुरुदक्षिणा हेतु rss ekal geet -gurudkshina मन समर्पित तन समर्पित गीत – मन समर्पित तन समर्पित और यह जीवन समर्पित   मन समर्पित तन समर्पित और यह जीवन समर्पित।  चाहता हूँ मातृ-भू तुझको अभी कुछ और भी दूँ ॥   माँ तुम्हारा ऋण बहुत है मैं अकिंचन।  किन्तु इतना कर रहा फिर भी … Read more मन समर्पित तन समर्पित। एकल गीत गुरुदक्षिणा हेतु। rss ekal geet | gurudkshina