संगठन मन्त्र sngthan mantr rss in hindi

संगठन मन्त्र sngthan mantr rss in hindi   ॐसंगच्छध्वं संवदध्वं सं वो मनांसि जानताम् देवा भागं यथा पूर्वे सञ्जानाना उपासते ||   अर्थ –  कदम से कदम मिलाकर चलो , स्वर में स्वर मिला कर बोलो , तुम्हारे मनों मे समाज बोध हो। पूर्व कालमें जैसे देबों ने अपना भाग प्राप्त किया , सम्मिलित बुद्धि … Read more संगठन मन्त्र sngthan mantr rss in hindi