ये शहीदों की जय हिंद बोली rss geet hindi | संघ गीत गणगीत।कार्यक्रम का गीत

ये शहीदों की जय हिंद बोली

 

ये शहीदों की जय हिंद बोली

ऐसी वैसी ये बोली नहीं है

इनके माथे पे खून का है टीका

देखो देखो ये रोली नहीं है। ।२

 

 सर कटाऊं जवानो को लेकर चल पड़ें है हमीरा के आगे

हम है संतान राणा शिवा की , कायरों की ये टोली नहीं है।

 

चल दिया जब जवां हँसते हँसते , माँ की ममता तड़प करके बोली।

आओ सो जाओ लाल मेरी गौद  में , अब तेरे पास गोली नहीं है।

 

अब विदा जाने वाले शहीदों , खून की सुर्ख पगड़ी पहनकर ,

खून की आज बौछार देखो , आज रंगो की होली नहीं है।

 

संघ पर आँख दिखलाने वाले , भस्म हो जाएंगे सारे दुश्मन ,

ये भला है कि अब तक हमने , तीसरी आँख नहीं खोले है।

 

ये शहीदों की जय हिंद बोली

ऐसी वैसी ये बोली नहीं है

इनके माथे पे खून का है टीका

देखो देखो ये रोली नहीं है। ।

संघ चेतना बढ़ना अपना काम है।rss geet | 

भारत माता तेरा आँचल। संघ गीत

चलो भाई चलो शाखा में चलो।rss best geet

हमको अपनी भारत की माटी से अनुपम प्यार है

संगठन हम करें आफतों से लडे हमने ठाना।sangh geet

 

आपसे अनुरोध है कि अपने विचार कमेंट बॉक्स में लिखें | 

facebook  page

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *